जानिए आपके आसपास सेहत है या सिर्फ सामान ?

94 total views, 3 views today



कहीं आपकी सेहत और सुविधाएं प्रतिद्वंद्वी तो नहीं बन गई? नीचे दिए सवालों के जवाब देकर खुद ही परख लीजिए कि कहीं आपने भी आस-पास बेकार का जमावड़ा तो नहीं किया हुआ है!

1. मुझे अपने आसपास ऐसा सब कुछ रखना पसंद है जिसकी मुझे जरूरत होती है?
अ: सहमत

ब: असहमत

2. घर में जरूरी सामान तो रखना ही पड़ता है, नहीं तो फिर घर कैसे लगेगा?
अ: सहमत

ब: असहमत

3. मुझे नहीं लगता कि कुछ भी गैरजरूरी होता है, क्योंकि कभी न कभी उसकी जरूरत पड़ती है?
अ: सहमत

ब: असहमत

4. मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा ऐसी है कि अच्छी बैठक और जरूरी सुविधाएं न हो तो बात बिगड़ जाती है!
अ: सहमत

ब: असहमत

5. परिवारजनों के दबाव में अतिरिक्त चीजें जमा हो जाती है, इसका कोई उपाय नहीं!
अ: सहमत

ब: असहमत

6. मैं अपने आसपास बेकार चीजों को कम करने पर सोचता रहता/रहती हूं, लेकिन जाने क्यूं आलस आता है!
अ: सहमत

ब: असहमत

7. बहुत से पुरानी चीजों के साथ यादें जुड़ी हैं इसलिए अब लगाव के कारण हटाने का मन नहीं होता!
अ: सहमत

ब: असहमत

8. सेहत-सामान का संबंध मुझे समझ नहीं आता, मेरे हिसाब से खराब सेहत के लिए स्वयं जिम्मेदार हैं!
अ: सहमत

ब: असहमत

9. मुझे खाली और खुलापन पसंद है, लेकिन कुछ अच्छा देखकर खरीदने पर मन ललचा जाता है !
अ: सहमत

ब: असहमत

स्कोर और एनालिसिस –
सामान-सुविधाएं आपकी ‘कमजोरी’ है : यदि आप 7 या उससे ज्यादा सवालों से सहमत हैं तो आपने अपने आसपास बहुत कुछ ऐसा जमा कर रखा है जिसकी आपको न कल जरूरत पड़ी थी, न आज है और न आगे पड़ेगी। यदि आप सुविधा और सामान के मोह में अपने आसपास को जंकयार्ड बनाएंगे तो निश्चित रूप से हमेशा उलझे रहेंगे।

आप संतुलन बनाने में ‘उस्ताद’ है : यदि आप 7 या उससे ज्यादा सवालों से असहमत हैं तो आपने तन-मन की चाह में संतुलन बनाया हुआ है। आप जमा से ज्यादा सही उपयोग पर जोर देते हैं। आप न आप बेकार की चीजें जमा करते हैं और न उनसे मोह बढ़ाते हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *