ऑयल पुलिंग से सेहतमंद रहेंगे आपके दांत

6 total views, 3 views today



मुंह में तेल भरकर कुल्ला करना ऑयल पुलिंग कहलाता है। यह वर्षों पुरानी आयुर्वेदिक थैरेपी है। इसका प्रयोग सामान्य रूप से कोई भी व्यक्ति कर सकता है। इसे 5-15 मिनट तक किया जा सकता है। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता। विशेषज्ञों का मानना है कि दांतों व मसूड़ों की सेहत के लिए यह थैरेपी बेहतर विकल्प है।

फायदा :
मुंह में छाले, बार-बार गला सूखना व लार कम बनने की समस्या में यह थैरेपी लाभकारी है। इसके अलावा इससे झांइयां व आंखों के नीचे काले घेरे की समस्या दूर होती है और चेहरे की चमक बढ़ती है।

ये तेल उपयोगी :
इसके लिए सामान्यत: नारियल के तेल का प्रयोग किया जाता है। सरसों व तिल के तेल को भी प्रयोग में ले सकते हैं। ध्यान रहे कि तिल के तेल का प्रयोग गर्मियों में न करें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है। इससे शरीर में गर्मी बढ़ने से कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *